स्थिति नाज़ुक मगर नियंत्रण में है

0
182
स्थिति नाज़ुक मगर नियंत्रण में है
असीमा भट्ट/ Mumbai
स्थिति नाज़ुक मगर नियंत्रण में है

वे बताते हैं
कहीं दो मरे
कहीं छह मरे
कहीं दस ….
खबरें सिर्फ़ आंकड़े बताते हैं
और कहते हैं स्थिति नाज़ुक मगर नियंत्रण में है
ख़बर पढ़ता हुआ इसान मुखौटा पहने बिजुका लगता है
वह निर्जीव सा कहता है – ‘सिर्फ़ दो, छह या दस जाने गयी’
वह नहीं बता पाता कि वह ‘सिर्फ़’ नहीं था
वह था अपने परिवार की उम्मीद उनके सपने
वह था अपने बूढ़े पिता की लाठी
लाचार मां की आंखों का चश्मा
और अपने तुतलाते बेटे का दोस्त जिसने कहा था

‘इस बार जन्मदिन पर तायकिल लूंगा’

अपने बचपन के अक्स को बेटे मैं झांकता हुआ बोला था -हां हां ला दूंगा तायकिल

पत्नी जो दुबारा गर्भ से थी.
वह सोचता था इस बार नन्हीं सी परी घर में आयेगी

पत्नी अस्पताल में दर्द से कराहती हुई बार बार उसी का नाम ले रही है

और ख़बरें लाशों की गिनती बता रही है

सरकार मुआवज़ा की बात कर रही है

पिता गिर पड़ा बिना अपनेी सहारे की लाठी के
मां की आंख का चश्मा टूट गया
अब वह कभी नहीं देख पायेगी

बेटा अपने दोस्त से कह रहा है – मेरे पापा मेरे लिए नयी तायकिल लेने गयें हैं

अस्पताल में दर्द से कराहती पत्नी का क्या हुआ किसी को पता नहीं

ख़बरें आंकड़े बता रही है
दो मरे, छह मरे, दस मरे …

‘स्थिति नाज़ुक मगर नियंत्रण में है’.

(अभिनेत्री और लेखिका Asima Bhatt की यह कविता उनके फेसबुक वॉल से)

Comments of facebook wall for this poems:

हरिओम प्रासाद राय भट्ट बहुत ही अच्छी कविता, धन्यवाद
 
Dilipkumar Pankaj: खौफनाक सच ….. मार्मिक और कोमल भाव
 
Sanjay Bhatt: बेहद सटीक मार्मिक लेखन
 
Srikant Ray: आज के परिवेश का कड़वा सच्च ।
 
Roy Shubhasini: बहुत ही बढिया एवं सुलझी हुई पंक्तिया है,लोगों के मिडिया केद्वारा कैसे ठगा जाता है उसका भी स्पष्टीकरण है
 
Pradeep Bhatt: हृदय को झकझोरने वाली कविता है ,आसिमा ह्रदय से शुभमनाएं
 
Nalini Sharma: मार्मिक पर कटु सत्य बहुत सही
 
Sanjeev Ray: हृदय को झंझोड़ दिया, इस मार्मिक कविता ने😢
 
Sarita Sharma बहुत ही बढ़िया कविता।
 
Chandra Bhushan Mishra कवयित्री ने बहुत ही संवेदनशील विषय पर अपनी लेखनी चलायी है मानवाधिकार की बात करने वालो को इसे देखना एवं समझना चाहिये. दिल को झक झोरती बहुत ही मार्मिक कविता
साधुवाद.
 
Geeta Bhatt बहुत ही अच्छी सोच उभरी है । पापा तायकिल लाने गये है क्या समाचार है स्थिति नियंत्रण मे है
 
Ram Sundar Dasaundhi मर्मस्पर्शी रचना
 
EeSha AnKita BhArdwaj आप सुरक्षित है …तभी तक , जब तक भीड आ कर आपको पीट – पीट कर आपकी जान ना निकाल ले …
 
Omprakash Sharma मार्मिक प्रसंग,सच्चाई के निकट किन्तु भौतिकता इसका मूल्यांकन नहीं कर सकती
 
Urmila Bhatt बहुत ही दर्दनाक ,लेकिन हकीकत से रूबरू कराता हुआ ।
 
Sharma Nirmala हृदय स्पर्शी
 
Sanjay Rai मार्मिक चित्रण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here